आइये,अपने अपरिचित से मिलिये -सन 1952 से सोये हैं - सामाजिक क्रांति का हिस्सा बनिए ! नहीं तो,अभी नहीं तो,कभी नहीं

हमारी उपस्थिती विश्व में प्रत्येक जगह है । बड़े शहरों में तो लोगों को जाति के कारण किसी प्रकार के भेद भाव का उतना एहसास नहीं होता है , लेकिन छोटे शहर और ग्रामीण क्षेत्र में सामाजिक- व्यवस्था जाति आधारित होने के कारण अपने समाज के व्यक्तियों को इसका फायदा और नुकसान दोनों है जो व्यक्ति के कारण विशेष से मिलता है । लेकिन अधिकतर देखा गया और जाता है कि अन्य जाति के कुछ लोगों द्वारा अपने समाज के संगठित न होने के कारण – अनगिनत तरह से प्रताड़णा झेलना पड़ता है ।पिछले कई महीने से विभिन्न जगहों पर विभिन्न कारणों से समाज के व्यक्तियों पर हुए हमले के प्रति समाज के प्रत्येक व्यक्ति को सोंचना और समर्थ नेतृत्व के द्वारा कुछ व्यवहारिक करना पड़ेगा, नहीं तो कल ऐसा ही दुर्व्यवहार हम में से प्रत्येक के साथ किसी किसी तरीके से जरूर ही होगा।

हम ऐसे घटनाओं को सभी के सामने क्रमवार ला रहे हैं –

1.01 /06/2021, एक और हत्या जवान रमाशंकर चौरसिया की WhatsApp by दीपक दीप चौरसिया ,8840404334,8400570058 ,लखनऊ

दिनांक 01/06/2021

जिला देवरिया तहसील सदर ब्लॉक देसही ग्राम धनौती थाना महुआडीह थाने से 1 किलोमीटर पर ही हुई पी आर डी जवान रमाशंकर चौरसिया की दिनदहाड़े निर्मम हत्या =, देसही देवरिया : महुआडीह थाना क्षेत्र के धनौती राजडीहा के रमाशंकर चौरसिया उम्र 49 पुत्र मुन्नी लाल चौरसिया के बड़े भाई इंद्रजीत चौरसिया की मकान जिगनी बाजार शहीद गेट के सामने बन रही है | 31 मई सोमवार शाम मकान के पास जिगनी बाजार गांव के कुछ दबंगो के अराजक तत्व काफी संख्या में लामबंद होकर आये और परिवार वालों से विवाद करने लगे मना कर रही बृद्ध महिला गुलाबी देवी पत्नी इंद्रजीत चौरसिया को गाली देने लगे आवाज सुनकर शिवम चौरसिया पुत्र रमाशंकर चौरसिया बाहर आ गये और उनको मना किया तो अराजक तत्वो ने उन्हे बेरहमी से मारना पीटना शुरू कर दिया तभी बचाव के लिये रमाशंकर चौरसिया भी बाहर आये तो उन्हें भी बेरहमी से लाठी और लोहे की रॉड से जान से मारने की नीयत से मारने पीटने लगे , मारने वाले काफी संख्या में थे और वो अराजक तत्वो ने शिवम और उनके पिता रमाशंकर चौरसिया को काफी बेरहमी से मारा , वहाँ मौजूद परिवार के अन्य लोगों को भी मारा पीटा गया , जिसमे रमाशंकर चौरसिया की हालत मरणासन्न हो गयी | तुरन्त उन्हे सदर अस्पताल ले जाया गया जहाँ डॉक्टरों ने उन्हें मेडिकल रेफर किया वहां हालात बिगड़ती देख डॉक्टरों ने उन्हें पीजीआई लखनऊ रेफर कर दिया जहाँ उनकी मौत हो गयी | मौत की खबर मिलते ही गाँव मे मातम छा गया पत्नी बिन्दु देवी का रो रो के बुरा हाल हो गया है , मृतक के दो बेटे है बड़ा बेटा सत्यम चौरसिया उम्र 23 उत्तर प्रदेश पुलिस में है जो गोंडा जिले में पोस्टेड है , छोटा बेटा शिवम चौरसिया उम्र 21 पढ़ाई करता है| स्वजनों द्वारा बताया गया कि शव का पीएम लखनऊ में ही हुआ है उसके बाद शव को घर लेकर आ रहे है| ज्ञात हो कि मृतक रमाशंकर चौरसिया जवान थे और वो टीलाटाली बालिका छात्रावास पे तैनात थे | इस जघन्य घटना पर क्षेत्र में दहशत का माहौल है कानून व्यवस्था पूरी तरह से ध्वस्त हो गई है इस जघन्य घटना पर क्षेत्र में दहसत का माहौल है क्योंकि यह घटना दिनदहाड़े थाने के नाक के नीचे हुई है
उत्तर प्रदेश में लागातार चौरसिया समाज के लोगो को निशान बनाया जा रहा है लगातार समाज के लोगो की हत्याएं हो रही है
योगी सरकार के राज्य में चौरसिया समाज पूरी तरह से असुरक्षित है समाज में लगातार बढ़ती घटनाओं सेसम्पूर्ण चौरसिया समाज में घोर रोष व्याप्त है प्रशासन द्वारा कोई महत्वपूर्ण कार्यवाई नही की जा रही है

आपका अपना
दीपक दीप चौरसिया8840404334,8400570058 wathssp

2.29/05/2021, WhatsApp by दीपक दीप चौरसिया ,8840404334,8400570058 ,लखनऊ

एक और घटना जिला इटावा में रानी चौरसिया पुत्र राहुल चौरसिया के साथ अश्लीलता एवं अत्याचार एवं पुत्र राहुल चौरसिया को जान से मारने की नीयत से लोहे की रॉड से बुरी तरह मारना पीटना की घटना बहुत निंदनीय ऐसी घिनोनी घटना समाज मे बहुत ही पीड़ादायक है ऐसे दंबगों के खिलाफ साक्ष्य होने पर भी प्रशासन द्वारा कोई कार्यवाई नही की गयी
प्रार्थिनी रानी चौरसिया ने इटावा कोतवाली थाना अध्यक्ष को प्रार्थनापत्र दिया एवं इटावा जिला पुलिश अधीक्षक को पंजीकृत डाक से प्रार्थनापत्र भेजा लेकिन दिनांक 26 /02/2021 से अभीतक ( लगभग 3 महीने यानी 90 दिन से ) अभीतक प्रशासन द्वारा FIR तक नही लिखी गयी
जबकि घटना की रात को मौके पर पुलिस घटना स्थल पहुँची थी पुलिस के कास्टबेल ने ही पीड़ित रानी चौरसिया एवं राहुल चौरसिया को हॉस्पिटल में एडमिट करवाया और मौके पर राहुल चौरसिया का मेडिकल भी हुआ मेडिकल पर पुलिस कास्टबेल आकाश के हस्ताक्षर भी है उसके बाद भी थाने में 90 दिन से FIR नही लिखी गई
रानी चौरसिया अपने पुत्र राहुल चौरसिया का इलाज हॉस्पिटल में करवा रही थी ।
प्रशासन द्वारा कोई कार्यवाई न होने पर रानी चौरसिया द्वारा अदालत का दरवाजा खटखटाया गया और एडवोकेट अमित जी की मदद से लीगल तरीके से कोर्ट के CJM ने FIR दर्ज करने का आदेश दिया
आपको बता देना चाहता हु की रानी चौरसिया जी इटावा में किराए पर कमरा लेकर रहती है और रानी के पति के पैर का ऑपरेशन हुआ है जिसकी वजह से उनको चलने में दिक्कत होती है रानी के पति बहुत गरीब है रानी चौरसिया परिवार का भरणपोषण करने के लिए मेहनत से चोंका बर्तन का काम करती है
इतनी विपरीत परिस्थितियों में भी रानी चौरसिया जी ने अपनी आवाज को उठाने के लिए लगातार संघर्ष कर रही है और न्याय मिलने के लिए लड़ाई को हर तरीके से लड़ रही है

विपक्षी दंबगों द्वारा अभी भी रानी चौरसिया के परिवार को जान से मारने का खतरा है

विपक्षी दबंगो द्वारा अभी भी लगातार रानी जहाँ रहती है वहाँ अज्ञात लोगों को उनके घर के सामने भेज कर रानी को डराया धमकाया जा रहा है कि चुपचाप बैठो नही तो जान से मार देंगे
विपक्षी दंबगों से रानी चौरसिया के परिवार को जान से मारने का खतरा अभी भी लगातार बना हुआ है
ऐसी स्थिति में रानी बहुत डरी हुई है और मानसिक रूप से टूट चुकी है
कृपया जो लोग रानी चौरसिया की मदद कर सकते है तो उनको फोन करके उनकी हर तरीके से मदद करे फर्जी में फोन करके उनका हाल चाल न ले क्योंकि वो पहले से ही बहुत परेशान है

रानी चौरसिया जी की मदद जो भी लोग करना चाहते है वो रानी चौरसिया का नम्बर ………….हमसे कॉल करके लेकर रानी चौरसिया जी से बात कर सकते है

रानी चौरसिया के जब्बे को हम सलाम करते है और उनकी पूरी लड़ाई में हम सब उनका साथ हर तरीके से दे जिससे रानी चौरसिया को न्याय मिले और अपराधियों को सजा।

मामले की पूरी घटना नीचे पोस्ट में प्रार्थिनी रानी चौरसिया की एप्लिकेशन में लिखी है

  •  
  •  
  •  
  •